manchmaithil@gmail.com       +91-8826566136

Historical Places

Maithili ( मैथिली, মৈথিলী, Maithilī) Historical Places

मिथिला क्षेत्र आध्यात्मिक दृष्टिसँ आस्तिक बहुल क्षेत्र रहल अछि तें स्वभावत: एतय अनेक छोट पैघ हजारों देवस्थल अछि जतय लोक अपन श्रद्धा सुमन अर्पित करैत अछि . एहि में प्रमुख स्थल एहि प्रकारे अछि :-

१. उग्रतारा स्थान (महिषी) :- ई वैह स्थान अछि जतय शंकराचार्य एवं मंडन मिश्र में गहन शास्त्रार्थ भेल छल आओर मंडन मिश्रक विदुषी पत्नी भारती निर्णायक चुनल गेल छलीह . ई स्थान सिद्धपीठक रूप में एखनहुं जीवंत अछि .

२. पूरणदेवी (काली मंदिर) पूर्णियाँ :- मिथिलाक सामान्य लोक एतय अपन मनोकामना पूर्ति लेल अबैत छथि .

३. जयमंगलास्थान :- बेगूसराय जिलान्तर्गत मझौल अनुमंडल सँ १० किमी पूब-उत्तर कोन में अवस्थित इ अति प्राचीन उपासना भूमि अछि . एतय लाखों लोग श्रद्धापूर्वक दर्शनार्थ अबैत छथि .

४. अहिल्या स्थान :- दरभंगा जिलाक कमतौल स्टेशन लग एकटा मंदिर अछि . एतय माता अहिल्याक शिलाखंड स्थापित अछि . ई वैह स्थान अछि जतय भगवान श्री राम, अहिल्या कें अपन स्पर्श स शापमुक्त कयने छलाह .

५. उच्चैठ स्थान :- मधुबनी जिलाक बेनीपट्टी थाना सँ सटल अति प्राचीन सरोवरक तट पर माँ भगवतीक मंदिर अछि . कहल जाइत अछि जे महाकवि कालिदास एतहिसँ भगवतीक उपासना कय विद्या प्राप्त कयने छलाह .

६. कुशेश्वर स्थान :- दरभंगा जिलाक पूर्वी छोर पर कुश रिषी द्वारा स्थापित भगवान शिवक एकटा मंदिर अछि . तैं एहि स्थान के कुशेश्वरस्थान नाम स जानल जाइत अछि . एकर गणना पवित्र तीर्थस्थल के रूप में होइत अछि .

७. कपिलेश्वर स्थान :- एतय कपिल मुनिक आश्रम छल . इ मधुबनी जिला में अछि .

८. जनकपुर :- यद्यपि ई नेपाल में अछि जतय राजा जनकक राजधानी छल . तैयो मिथिलाक इतिहास में एकर स्थान अत्यन्त महत्वपूर्ण अछि .

९. विशौल :- ई विश्वामित्रक आश्रम छल . सीता स्वयंवरक समय राजा जनक एतय विश्वामित्र कें विश्राम करबाक व्यवस्था कयने छलाह .

१०. पुनौरा :- सीतामढी स्थित एहि गाँव में जानकी सीताक जन्म भेल छलनि .

११. फुलहर :- एतय माँ जानकी फूल तोड़य लेल अबैत छलीह .

१२. गौतम आश्रम :- एतय गौतम रिषीक आश्रम छल . ई कमतौल स्टेशन सटल अछि .

१३. सोमनाथ :- मधुबनी स पश्चिम सौराठ गाम में सोमनाथक मंदिर अछि . एतय प्रत्येक वर्ष मैथिल ब्राह्मणक वैवाहिक सभाक आयोजन होइत अछि .

१४. विदेश्वर स्थान :- दरभंगा निर्मली रेल लाइनक लोहना रोड स्टेशन स दू किमी उत्तर स्थित एहिठाम प्राचीन शिव मंदिर पूर्ण विख्यात अछि जतय प्रत्येक रवि दिन मेला लगय छै .

१५. उग्रनाथ :- भवानीपुर पण्डौलक निकट अछि .

१६. शिलानाथ :- ई जयनगर निकट अछि .

१७. मदनेश्वर महादेव :- ई मधुबनी जिलाक ठाढीग्राम स पाँच किमी पर अछि.

१८. कमलादित्य स्थान( परमेश्वरी मंदिर) :- ठाढी गाँव मधुबनी में अछि .

१९. भैरवस्थान :- ई मंदिर मिथिला में दू ठाम अछि . पहिला मधुबनी जिलान्तर्गत कोठियाग्राम स एक किमी पर अवस्थित अछि आ दोसर औराई क्षेत्र सीतामढी जिला में अछि .

२०. चामुण्डा :- कटरा सीतामढी जिला

२१. भद्रकालिका मंदिर :- मधुबनी जिलाक कोइलख ग्रामक ई प्रसिद्ध मंदिर अछि .

२२. सूर्यधाम :- परसा झंझारपुर

२३. बसाढ़ :- वैशाली .

२४. शुक्रेश्वरी भगवती :- भारत आओर नेपालक सीमा पर महादेव मठ लग अछि .

२५. गरीब नाथ मंदिर :- मुजफ्फरपुर शहरक प्रसिद्ध शिव मंदिर .

२४. शुक्रेश्वरी भगवती :- भारत आओर नेपालक सीमा पर महादेव मठ लग अछि .

२५. गरीब नाथ मंदिर :- मुजफ्फरपुर शहरक प्रसिद्ध शिव मंदिर .

२६. थानेश्वर मंदिर :- समस्तीपुर रेलवे स्टेशन सँ सटल प्रसिद्ध शिव मंदिर .

२७. महादेव मंदिर :- समस्तीपुर सँ १० किमी दक्षिण मुसरीघरारी नामक स्थान में राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित प्रसिद्ध शिव मंदिर .

२८. शिवमंदिर गढ़पुरा :- बेगूसराय जिलाक गढ़पुरा स्थित प्राचीन शिवक मंदिर .

२९. माधवेश्वर मंदिर :- दरभंगा शहरक प्रसिद्ध तारा मन्दिर एवं शिवमंदिर .

३०. अरेराज :- पूर्वी चम्पारण .

३१. रेवाघाट :- वैशाली जिला .

३२. राजग्राम :- मधुबनी जिला .

३३. अष्टभुज गणेश मंदिर :- ग्राम कोर्थ, दरभंगा .

३४. महिषासुर मर्दिनी :- अन्दामा .

३५. उमामहेश्वर :- महादेव मठ .

३६. भगवान विष्णु :- लदहो ग्राम .

३७. सिद्धेश्वरी स्थान :- मधुबनीक सटले ग्रामक प्रसिद्ध देवी मंदिर .

३८. सूर्य मंदिर :- विष्णु बरुआर

३९. सुर्य मूर्ति :- सवास .

४०. यज्ञवन(जगवन) :- मधुबनी

४१. याज्ञवल्क्य आश्रम :-

४२. पाली :- ज्योतिरीश्वरक जन्मस्थान .

४३. करियनि :- समस्तीपुर जिलाक रोसड़ा सँ १० किमी उत्तर प्रसिद्ध दार्शनिक उदनाचार्य जन्म स्थल .

४४. विस्फी :- विश्वप्रसिद्ध कवि विद्यापतिक जन्म स्थान .

४५. उग्रनाथ मंदिर :- हाजीपुर बछवाड़ा रेल लाइनक प्रसिद्ध शिव मंदिर / विद्यापतिक समय में गंगाक धारा एतहि सँ प्रवाहित होइत छल आओर ओएतहि अपन शरीर त्यागने छलाह .

४६. सरिसबडीह :- अयाची मिश्रक जन्मस्थान .

४७. महिषी :- मंडन मिश्रक जन्म स्थान .

४८. भरौरा :- दरभंगा जिला में अवस्थित ई ग्राम प्रसिद्ध गोनू झाक जन्मस्थान अछि.

४९. ठाढ़ी :- मधुबनी जिलाक ई ग्राम वाचस्पति मिश्रक जन्मस्थान अछि .

५०. सलहेसडीह :- बाबू बड़ही प्रखंड सड़रा-छजनाक बीच पाँचम-छठम शताब्दीक अवतारी पुरुष सलहेसक डीह अछि .

५१. मंगरौनी :- मदन उपाध्यायक जन्मस्थल .

५२. गाण्डीवेश्वर महादेव मंदिर :- मधुबनीक जिलाक बेनीपट्टी क्षेत्र में शिवनगर ग्राम में .

५३. वाणेश्वर :- मधुबनी जिलाक माधोपुर गामक निकट महादेव मंदिर .

५४. कात्यायनी मंदिर :- सहरसा जिला में स्थित अछि .

५५. सिंहेश्वर स्थान :- मधेपुरा

मिथिलाक सांस्कृतिक इतिहास में जनपदीय लोकदेवताक सभक सेहो महत्वपूर्ण भूमिका रहल अछि लोकदेवता श्रेणी में कतोक नाम अति प्रसिद्ध अछि जहिमें प्रमुख छथि- बसाओन, बखतौर , लोरिक, कारिख, सलहेस, चूहर, मधुकर, दुलरा, दयालसिंह, अमरसिंह, केवल सिंह, दीना-भदरी, रन्नू, सरदार गनीनाथ, दयाराम, मनसाराम, श्यामसिंह, एवं सोखा शंभूनाथ आदि . मिथिला में सब दिन सँ हिन्दू एवं मुसलमान में आपसी सौहार्द रहल अछि . कहियो कोनो तरहक दंगा-फसाद नहि भेल अपितु मुसलमान जे दाहा-तजिया निकालैत छथि तहि में हिन्दू एवं मुसलमान दूनू आपसी प्रेम सँ सम्मिलित होइत छथि . दाहा गीत आर झरनी गीत दूनू प्रकारक गीत मैथिलिओ में गाओल जाइत अछि . “मैथिल मंच” के मांग अछि कि जहि तरह उत्तर प्रदेश आर बिहार के मिला क दुनिया भरिक तीर्थ यात्रीक लोकनिक लेल बौद्ध सर्किट नाम स सुविधा उपलब्ध कराओल गेल अछि ओहि तरहँ अयोध्या सँ जनकपुर तक राम जानकी सर्किट बना कए वैह सुविधा देल जाए . तँ पर्यटनक एकटा नव मार्ग बनि सकैछ जाहिसँ रोजगार सृजनक संग-संग क्षेत्रक आय बढाओल जा सकैछ.

मिथिला में कतेक गढ यै पढ़ि मोन आनंदित भ गेल:

१. सिमराँव गढ़ : प्राचीनगढ़ पश्चिम चम्पारण

२. नंदन गढ़ : बेतिया स २० किमी दूर

३. बलिगढ़ (बलिराजपुर) : मधुबनी जिला में

४. असुरगढ़ : महादेवगढ़ लग पूर्णियाँ जिला

५. जयनगर किला : मधुबनी स उत्तर

६. देकुली गढ़ : शिवहर स तीन किमी

७. कटरागढ़ : मुजफ्फरपुर जिला

८. नौलागढ़ : बेगूसराय स २५ किमी

९. मंगलगढ़ : रोसड़ा लग समस्तीपुर

१०. अलौलीगढ़ : खगरिया स १२ किमी

११. कीचकगढ : किशनगंज स ११ किमी महानंदाक पूर्वी तट पर.

Copyright © Maithil Manch     Designed and Developed by PASSWORD INFOTECH (8826554981)